लेबर कार्ड क्या है ? और हमें क्यों बनवाना चाहिए लेबर कार्ड ?

सरकार ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए पांच योजनाएं शुरू की हैं। इन योजनाओं का लाभ श्रमिकों को श्रमिक कार्ड बनने के तुरंत बाद मिलेगा। इसके लिए श्रम विभाग ठेका मजदूरों की पहचान के लिए उनका पंजीयन कर श्रमिक कार्ड बना रहा है। श्रम विभाग द्वारा निशुल्क श्रमिक कार्ड बनाया जा रहा है। लेबर कार्ड बनते ही कर्मचारी का दुर्घटना बीमा कराया जाएगा। इसके लिए उन्हें कोई योगदान नहीं देना होगा।

एक पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के परिवार के दो सदस्यों को स्थानीय रूप से उपलब्ध रोजगारोन्मुखी व्यवसायों में प्रशिक्षण दिया जाएगा, प्रशिक्षण अवधि के दौरान न्यूनतम मजदूरी का भुगतान किया जाएगा।

मुख्यमंत्रीअसंगठित कामगार स्वावलंबन पेंशन योजना

18से 55 आयु वर्ग के निबंधित असंगठित कामगार द्वारा वर्ष में 1000 रुपए अंशदान देने पर उनके पेंशन खाते में 1000 रुपए केन्द्र सरकार जमा करेगी।

बंधुआमजदूर योजना

सक्षमपदाधिकारी द्वारा निबंधित असंगठित कामगार को बंधुआ मजदूर घोषित होने पर एक मुश्त 50,000 रुपए अनुग्रह राशि दी जाएगी।

अन्य किसी भी योजना से अावास हेतु अनुदान या वित्तीय सहायता प्राप्त नहीं होने पर और अपना पक्का आवास नहीं होने पर इस योजना का लाभ मिलेगा।

 

 

बीमा के तहत यदि दुर्घटना में मौत होती है तो एक लाख रुपए, सामान्य मृत्यु की स्थिति में 30 हजार रुपए, आंशिक अपंगता पर 37,500 रुपए, पूर्ण अपंगता पर 75,000 रुपए मिलेंगे। निबंधित असंगठित कर्मकार के दो बच्चों को कक्षा नौ से 12वीं तक, आईटीआई या पॉलिटेक्निक में अध्ययनरत रहने पर 1200 रुपए प्रतिवर्ष छात्रवृति दो किश्तों में मिलेगी। दुर्घटना में घायल होने के पश्चात कम से कम पांच दिनों तक अस्‍पताल में भर्ती रहने की स्थिति में 5000 रुपए तक की चिकित्सा सहायता मिलेगी। असाध्य रोगों से ग्रसित होने पर जिला स्तरीय मेडिकल बोर्ड की अनुशंसा पर पूर्ण चिकित्सीय खर्च दिया जाएगा।

दिल्ली लेबर कार्ड - ONLINE